परीक्षा विद्यार्थी के लिए किसी भय से काम नहीं है। जैसे कोई भूत सर पर सवार हो और उसकी रातों की नींद हराम हो जाती है। विद्यार्थी को ना तो भूख लगती है और...

...न प्यास। अगर उस समय कोई रिश्तेदार घर आ जाए तो उनसे मिलना भी अच्छा नहीं लगता है। सबको विदित है कि 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं चल रही है। मैं अपने दोस्त के...

...घर गया और उसके बेटे से पूछा कि एग्जाम की तैयारी तो अच्छी चल रही होगी। इस बार तो तुम टाप करोगे। पर उसने नीचे मुंह कर लिया, तो ...

...मैं समझ गया कि वह भी मेरे बेटे की तरह ही अंतिम दिनों में पूरे साल की तैयारी में जुटा है। मैंने उससे जानने की कोशिश की...

...तुम्हारे पढ़ने का रुटीन क्या है, तो उसने जो कहा मैं सुन कर हक्का-बक्का रह गया । आप को यकीन नहीं होगा :